एक टैटू जिसने बदल दी २० साल की लड़की की ज़िन्दगी

गम छुपाने के लिए लोग न जाने क्या क्या करते हैं. २० साल की बेखा ने डिप्रेशन की बिमारी से निकलने के लिए एक अनोखा उपाय सोचा. दरअसल, पिछले साल अमेरिका के ऑरिगन में रहने वाली बेखा को पता चला कि वह डिप्रेशन से जूझ रही हैं। इस बीमारी से निकलने के लिए उन्होंने अपने पैर पर टैटू गुदवाया .जिसे आप पढेंगे तो लगेगा “आई ऍम फाइन”दिखेगा ,पर जब बेकह खुद उससे पढ़ेंगी तो ‘सेव मी’ नजर आएगा.अमेरिका की बेखा माइल्स का यह टैटू इन दिनों पूरी दुनिया में वायरल हो गया है.

picture

बेखा ने यह भी बताया कि कोई इंसान ऊपर से कितना भी खुश क्यों न लगे, पर हो सकता है उसे मदद की जरूरत हो। बेखा ने लिखा कि लोग अक्सर हमारी हंसी के पीछे छिपे दर्द को पढ़ना भूल जाते हैं।बेखा ने बताया कि उन्हें भी इस बीमारी के बारे में एक साल पहले ही पता चला पर वह खुश रहते-रहते अचानक दुखी हो जाती हैं और यह जिंदगीभर की लड़ाई है।

बेखा और उसके जैसे लोगो को हमारी ज़रूरत हैं.उन्होंने अपने इस टैटू से कितने लोगो का दर्द बयान कर दिया .जो इस बिमारी से जूझ रहे है.हमें ऐसे लोगो पर हँसना नहीं चाहिए बल्कि उनके इस मुश्किल दौर में साथ देना चाहिए.

Loading...